Archive | दिसम्बर, 2008

The back bencherz

30 दिसम्बर

ये गाना कॉलेज टाइम में अपने Back Bencher साथियों के लिए लिखा था जिसे आज यहाँ प्रकाशित कर रहा हूँ. सबको तो नहीं कह सकता पर कुछ लोग को ये जरुर पसंद आएगी 🙂

देर से उठते हम यारों कभी जाते नहीं नहा के
ज्यादा जल्दी कम pressure तो निपटेंगे फिर आके
एक हाथ में कॉपी दुसरे में break-fast दबा के
college गए जैसे-तैसे तो late थे घंटे आधे
क्यूंकि
we are the back bencherz
we are the back bencherz
हमको नहीं है फिकर
we are the back bencherz

college देर से जाना
Teacher से नजर चुराना
आगे सीटें कितनी खाली
फिर भी सबसे पीछे जाना

भरी class में भी आराम से हैं सो जाते
boring lecture में cell पे करते interesting बातें
exams pass करने के method सबको हैं बतलाते
बस एक रात में पढ़कर नंबर सबसे ज्यादा लाते

क्यूंकि
we are the back bencherz
we are the back bencherz
हमको नहीं है फिकर
we are the back bencherz

खिड़की से बहार झांक यार
जरा उसको miss call मार यार
लड़कियों को जम के ताड़ यार
दिख जाये कोई मॉल यार

canteen के महफ़िल को हम ही रंगीन बनाते
कमेन्ट मारने से हम यारों कभी नहीं कतराते
girls, pair या faculty हो सबकी वाट लगाते
तभी बात करने में हमसे बड़े-बड़े घबराते

क्यूंकि
we are the back bencherz
we are the back bencherz
हमको नहीं है फिकर
we are the back bencherz

……………………. Shubhashish

Advertisements