Archive | दिसम्बर, 2009

किसी ने अल्लाह कह के मारा किसी ने राम कह के मारा

17 दिसम्बर

किसी ने अल्लाह कह के मारा किसी ने राम कह के मारा
जो बच गए इससे उन्हें सद्दाम कह के मारा
जो आये थे घर छोड़ शहर दो रोटी कमाने को
“क्यों छिनने आये हो हमारा काम” कह के मारा
कहते हैं जिससे बड़ी नहीं कोई और इबादत दुनिया में
हाँ इसी इश्क करने की खातिर कितनो को सरेआम कर के मारा
 ………………………………….. Shubhashish

Advertisements